30 सेकेंड के अंदर लड़कियां, दरिंदों को मार गिराने की क्षमता रखती है-शमशाद अंसारी।

रोहित यादव की कलम से,                                       जी हां, बिल्कुल 30 सेकेंड के अंदर लड़कियां दरिंदों को मार कर , नेस्तनाबूद करने की क्षमता रखती है, लेकिन उसके लिए कराटे कला में निपुण होना जरूरी है, ऐसा कहना है बिहार स्टेट , कराटे एसोसिएशन के चीफ शमशाद अंसारी का।

आज के वर्तमान परिदृश्य में लड़कियां, अपने को असुरक्षित महसूस करती है खासकर शाम के बाद लड़कियों को घर से बाहर जाने में हिचकिचाहट होती है और उनके अभिभावक को काफी चिंता रहता है कि हम अपने बच्चे को कैसे घर से बाहर वह भी शाम में भेजें। लड़कियां डरने लगी है शाम के बाद घर से निकलना उनके लिए काफी डरावना होता है ,ऐसा इसलिए कह रहे हैं की अभी का जो माहौल है वह आप से छुपा हुआ नहीं है, हर दिन कुछ ना कुछ घटना घटित हो ही रहा है। इसका सीधा असर बच्चियों के साथ-साथ उनके अभिभावक पर पड़ता है। लेकिन यदि आप अपने बच्चे को कराटे कला में निपुण करते हैं तो निश्चित रूप से आपकी बच्ची सुरक्षित महसूस करेगी और आप भी चिंता मुक्त रहेंगे, साथ ही साथ दूसरे को भी मदद कर सकती है, ऐसा कहना है बिहार स्टेट चीफ कराटे एसोसिएशन शमशाद अंसारी का।

लड़की को आत्मनिर्भर बनाना है तो निश्चित रूप से कराटा का ट्रेनिंग दे, 30 सेकेंड के अंदर ही दरिंदों को ढेर करने का औकात रखती है , लड़कियों को कमजोर ना समझे ,बल्कि कराटे का ट्रेनिंग देकर मानसिक और शारीरिक रूप से मजबूत बनाएं, शमशाद अंसारी ऐसा ही मानते हैं और अपील करते हैं कि हिंदुस्तान न्यूज़ लाइव के माध्यम से।  अभिभावकों को आगे आना चाहिए, बेटी को आत्मनिर्भर बनाए, ना कि कमजोर।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *