ज्योति के हिम्मत और हौसले के कारण , उनका नाम सुर्खियों में।

जी हां बिहार की बेटी दरभंगा जिले की रहने वाली ज्योति का नाम अभी सुर्खियों में से एक है । ज्योति के हिम्मत और हौसले के कारण उनका नाम आज हर कोई बड़े ही शान से लेते हैं। हर एक व्यक्ति के जुबान पर ज्योति का ही नाम है, आखिर हो भी क्यों ना ? 15 साल की इस बेटी ने वह कमाल कर दिखाया, जो शायद किसी ने सोचा भी नहीं होगा। हिंदुस्तान न्यूज़ लाइव ज्योति का समाचार पहले भी प्रकाशित कर चुका है।

बिहार के इस बेटी की प्रतिभा से अमेरिका के राष्ट्रपति की बेटी इंवाका ट्रंप इस इस कदर प्रभावित हुई की वह अपने ट्विटर अकाउंट पर ज्योति के तारीफ का पुल बांधने से नहीं रुक सकी।

इवांका ट्रंप अपने टि्वटर अकाउंट पर   ज्योति  के बारे में लिखा, इसके बाद ज्योति ,लाइमलाइट में आई । आज ज्योति का किस्सा, हर कोई करना चाह रहा है, क्योंकि बेटी होकर उन्होंने ऐसा काम कर दिखाया जिससे हर कोई मुरीद हो गया है। अब तो कई समाजसेवी और नेतागणो का तांता लगा है बहादुर बेटी ज्योति के बारे में बयान देने के लिए। भाजपा युवा मोर्चा के प्रदेश उपाध्यक्ष प्रवीण कुमार का बयान ज्योति के बारे में क्या है वह भी जाने:

ज्योति सचमुच तुंम ज्योति हो ,देश की बेटी ज्योति पासवान दरभंगा ने साहस ,संकल्प का परिचय देकर दुनिया के युवाओं के लिए उदहारण बन गई है। सँघर्ष में विन्रमता के वे उनका परिवार उत्तम उदाहरण है, ज्योति के जज्बे से अभिभूत भाजपा युवा मोर्चा के नवमनोनित प्रदेश उपाध्यक्ष प्रवीण कुमार ।  प्रवीण कुमार ने ,केंद्रीय खेल मंत्री किरण रिजूजू के सार्थक पहल पर इंडिया साइकिलिंग एसोसिएशन और इंडिया साइकिलिंग ऐकेडमी ने साहस की मिसाल करने वाली ज्योति की साइकिलिंग की प्रतिभा को और अधिक संवारने के लिए उचित प्रशिक्षण और छात्रवृति दिए जाने के निर्णय सहित बिहार सरकार के शिक्षा विभाग द्वारा दरभंगा की लाडली ज्योति की आगे की शिक्षा के लिए किये जा रहे प्रयास का स्वागत किया है।

ज्योति ने गुरुग्राम से साइकिल पर अपने  अस्वस्थ पिता को बैठा कर 1200 किलोमीटर की दूरी तय कर लगभग 7 दिनों में दरभंगा पहुंची। उसके इस जज्बे से हर भारतीय अपने को गौरवान्वित महसूस कर रहें हैं। बेटी हो तो ज्योति जैसी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *